कई जिलों में आज भी भारी बारिश का अलर्ट, मौसम के कहर से 28 दिनों में 35 लोगों की हो चुकी मौत

मौसम विभाग ने आज लाहुल स्पीति व किन्नौर को छोड़ शेष जिलों में आंधी के साथ भारी वर्षा का यलो अलर्ट जारी किया है। इस दौरान यातायात, बिजली, पानी व संचार सेवाएं प्रभावित होने की आशंका है। मानसून ने इस बार जिला शिमला में खूब कहर बरपाया है। जिला में 24 जून से लेकर 22 जुलाई तक 141.57 करोड़ रुपये का नुकसान वर्षा के कारण हुआ है। इन 28 दिन के भीतर जिला में 35 लोगों की मौत हुई है।

जनजीवन अभी भी नहीं लौटा पटरी पर
हालांकि मौत के इन आंकड़ों में मकान गिरकर दबने से हुई मौत के अलावा सड़क दुर्घटना व अन्य मौतों के मामले भी शामिल हैं। लगातार हो रही वर्षा से जनजीवन अभी भी पटरी पर नहीं लौटा है। जिला आपदा प्रबंधन की ओर से सरकार को जो रिपोर्ट भेजी गई है उसमें इसका पता चला है। रिपोर्ट के अनुसार 35 लोगों की इन 28 दिनों के भीतर मौत हुई है जबकि 22 घायल हुए हैं। सात लापता बताए जा रहे हैं।

63 मवेशी व अन्य जीव-जंतू मारे गए
63 मवेशी व अन्य जीव-जंतू मारे गए हैं। रिपोर्ट के अनुसार 89 पक्के घर पूरी तरह क्षतिग्रस्त हुए हैं जबकि 41 कच्चे मकान क्षतिग्रस्त हुए हैं। इसके अलावा 2168 पक्के व 1191 कच्चे मकानों को आंशिक रूप से नुकसान हुआ है। पांच दुकानें भी वर्षा की भेंट चढ़ गई हैं। इसके अलावा 81 मजदूरों के शेड, पुल व अन्य हट्स भी वर्षा से प्रभावित हुए हैं।

500 पशुशालाएं भी प्रभावित
500 पशुशालाएं भी प्रभावित हुई हैं। जिला में रविवार को 230 सड़कें बंद रहीं जिसके कारण लोगों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। इनमें ज्यादातर सड़कें ग्रामीण क्षेत्रों की हैं। इसके अलावा 381 ट्रांसफार्मर खराब पड़े हुए हैं। जबकि 245 पेयजल योजनाएं प्रभावित हुई हैं।

Post a Comment

Previous Post Next Post