बर्फीली हवाओं से ठिठुरा उत्तर प्रदेश, बिहार में भी सर्दी का सितम; लेकिन ठंड से जल्द मिलेगी राहत

 दिल्ली में लगातार दूसरे दिन शुक्रवार को शीत लहर का प्रकोप जारी रहा और दक्षिण-पश्चिम दिल्ली के आया नगर में न्यूनतम तापमान गिरकर 1.8 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के आंकड़ों से यह जानकारी मिली। हरियाणा, पंजाब और राजस्थान में सर्दी का सितम जारी है, वहीं जम्मू-कश्मीर में न्यूनतम तापमान में कुछ सुधार होने से घाटी में भीषण सर्दी से कुछ राहत मिली है। दिल्ली के प्रमुख मौसम केंद्र सफदरजंग वेधशाला में न्यूनतम तापमान चार डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो डलहौजी (8.7 डिग्री से.), धर्मशाला (5.4 डिग्री से.), शिमला (6.2 डिग्री से.), देहरादून (4.4 डिग्री से.), मसूरी (6.4 डिग्री से.) और नैनीताल (6.5 डिग्री से.) से भी कम है। 


उत्तर-पश्चिम भारत और देश के मध्य तथा पूर्वी हिस्सों में कोहरे की घनी चादर छाई रही, जिससे सड़क, रेल और हवाई यातायात प्रभावित हुआ। अधिकारियों ने बताया कि खराब मौसम के कारण इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर करीब 30 उड़ानों और कम से कम 26 ट्रेनों को दिल्ली पहुंचने में देरी हुई। इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के पास पालम वेधशाला में सुबह साढ़े पांच बजे विजिबिलिटी 200 मीटर दर्ज की गई। दिल्ली में लोधी रोड, आयानगर और रिज मौसम केंद्र में न्यूनतम तापमान क्रमश: 3.8 डिग्री सेल्सियस, 1.8 डिग्री सेल्सियस और 3.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। 


बर्फीली हवाओं से शुक्रवार को भी पूरा उत्तर प्रदेश ठिठुरता रहा। बीते 24 घंटों में के दौरान प्रदेश के कानपुर व अयोध्या सबसे ठण्डे स्थान रहे जहां रात के तापमान 3.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। कानपुर और आसपास के जिलों में शुक्रवार को 29 लोगों की सर्दी के कारण मौत हो गई।। मौसम विभाग के अनुसार प्रदेश में फिलहाल अगले तीन दिन तक ठिठुरन भरी कड़ाके की सर्दी से राहत नहीं मिलने वाली है। तीन दिन बाद रात के तापमान में बढ़ोतरी होगी, दिन में धूप भी निकलेगी। मगर उसके बाद नौ से 11 जनवरी के बीच उत्तराखंड में हल्की बारिश और बर्फबारी की वजह से चलने वाली पश्चिमी सर्द हवा यूपी के जनजीवन पर भी असर डालेंगी। दिन व रात के तापमान में गिरावट के साथ सर्दी का सितम और बढ़ेगा।


मौसम विभाग की रिपोर्ट के अनुसार, 2.5 डिग्री सेल्सियस तापमान के साथ नारनौल हरियाणा में सबसे ठंडा स्थान रहा वहीं पंजाब में सबसे कम तापमान 3.5 डिग्री सेल्सियस बलाचौर का रहा। दोनों राज्यों की संयुक्त राजधानी चंडीगढ़ में न्यूनतम तापमान पांच डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। राजस्थान में सीकर के फतेहपुर में न्यूनतम तापमान 0.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जिसके बाद चुरू में 1 डिग्री सेल्सियस तापमान रहा। घाटी के प्रवेश द्वार काजीगुंड में न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे 5.8 डिग्री सेल्सियस जबकि सीमांत जिले कुवपाड़ा में न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे 5.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। श्रीनगर में न्यूनतम तापमान 5.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। 


आईएमडी के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार, हालिया पश्चिमी विक्षोभ के कारण सर्दी से कुछ राहत मिलेगी। पश्चिमी विक्षोभ उत्तर-पश्चिम भारत को शुक्रवार से प्रभावित कर सकता है। आईएमडी के मुताबिक, मैदानी इलाकों में शीतलहर की घोषणा तब की जाती है, जब न्यूनतम तापमान लुढ़ककर चार डिग्री सेल्सियस पर पहुंच जाए या फिर 10 डिग्री सेल्सियस या उससे नीचे और सामान्य से 4.5 डिग्री कम हो जाए। 


फिर पलटेगा मौसम, गिरेगा पारा

नौ जनवरी के बाद एक नए पश्चिमी विक्षोभ के चलते उत्तराखंड में बारिश और बर्फबारी के आसार बन रहे हैं। इस बीच प्रदेश में तापमान में बढ़ोतरी होगी और थोड़ी राहत मिलेगी। मगर उत्तराखंड में बारिश और बर्फबारी के बाद उत्तर प्रदेश में 11 जनवरी के बाद मौसम फिर पलटेगा और पारा गिरेगा। गलन और ठिठुरन भरी ठंड बढ़ेगी।


बिहार के नौ जिलों में भीषण ठंड

पटना समेत बिहार में सर्दी का सितम जारी है। पिछले 24 से 36 घंटों में इसकी वजह पूरी तरह बदल गई है। अब तक सूबे के आसमान में बादलों के चलते अधिकतम तापमान में गिरावट हुई थी, जिससे शीतलहर जैसे हालात बने थे। शुक्रवार से बर्फीली पछुआ हवाओं के प्रवाह से न्यूनतम तापमान में भारी गिरावट आई है, जिससे कई जिलों में भीषण ठंड के हालात बने हैं। पिछले 24 घंटों में प्रदेश के 24 जिलों का न्यूनतम तापमान गिरा है। कई जगहों पर तापमान में भारी गिरावट से शीत दिवस की स्थिति है। हालांकि दिन में धूप निकलने से पटना, गया समेत कुछ जगहों पर दोपहर में आंशिक राहत की स्थिति भी रही।


मौसम विभाग ने शुक्रवार की सुबह न्यूनतम तापमान में आई गिरावट की वजह से पटना समेत चार जिलों में भीषण शीत दिवस जबकि पांच अन्य शहरों में शीत दिवस की घोषणा कर दी। पटना, भागलपुर, मुजफ्फरपुर और दरभंगा जिले में सिवियर कोल्ड डे जबकि गया, पूर्णिया, सुपौल, सबौर और मोतिहारी में कोल्ड डे घोषित किया गया है। शनिवार को भी इन जिलों में इसी तरह के हालात बने रहेंगे। मौसम विभाग ने लोगों से ठंड में सतर्कता बरतने की सलाह दी है। 6.4 डिग्री सेल्सियस न्यूनतम तापमान के साथ बांका व फारबिसगंज राज्य में सबसे ठंडे स्थान रहे। मुजफ्फरपुर में राज्य में सबसे कम अधिकतम तापमान 12 डिग्री रिकॉर्ड किया गया।


कोहरे से थोड़ी राहत, कल से पहाड़ों पर बारिश

मैदानी इलाकों में कोहरे से शनिवार से थोड़ी राहत मिलेगी। मौसम विभाग ने ऊधमसिंहनगर, हरिद्वार जिलों में हल्का कोहरा पड़ने का पूर्वानुमान जारी किया है। जबकि पिछले कई दिनों से घना कोहरा और शीत दिवस जैसी स्थिति बनी थी। वहीं प्रदेश के पहाड़ी जिलों में उत्तरकाशी, चमोली और पिथौरागढ़ में आठ जनवरी से बारिश और बर्फबारी के आसार बताए हैं। आठ, नौ और जनवरी को तीन हजार मीटर से अधिक ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी हो सकती है।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad