मुख्यमंत्री जी ने बंजार क्षेत्र को दी 84 करोड़ की सौगातें



मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने आज जिला कुल्लू के बंजार विधानसभा क्षेत्र में लगभग 84 करोड़ रुपये लागत की 14 विकास परियोजनाओं की आधारशिलाएं रखीं व लोकार्पण किए। मुख्यमंत्री जी ने प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अन्तर्गत 7.85 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित दियोरी सुनांद सड़क, नाबार्ड के अन्तर्गत 8.23 करोड़ रुपये लागत की ग्रहूण से दलवार सड़क, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अन्तर्गत 11.61 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित भुईन दियार शोंधाधार सड़क, नाबार्ड के अन्तर्गत 3.45 करोड़ रुपये के व्यय से सपागनी से कंडा सड़क के सुधारीकरण, मेटलिंग और टारिंग तहसील भुन्तर के मंझाली गांव के अन्तर्गत हवाई शियाह की आंशिक रूप से कवर की गई बस्तियों के लिए 2.22 करोड़ रुपये की लागत की उठाऊ जलापूर्ति योजना और तहसील भुन्तर के जनगणना गांव हाट जलापूर्ति  योजना के लिए 94 लाख रुपये की लागत के अतिरिक्त स्रोत का लोकार्पण किया।



इन परियोजनाओं का किया शिलान्यास

मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने 56.12 करोड़ रुपये की लागत की विकास परियोजनाओं की आधारशिलाएं रखीं जिनमें तहसील बंजार में 18.32 करोड़ रुपये की लागत से जलापूर्ति योजना सारची बांदल, अरखली फगवाड़ा, जलापूर्ति योजना सिराज, जलापूर्ति योजना थाटीबीर तरगली और मंगोलई के सुधारीकरण, तहसील भुन्तर में 7.45 करोड़ रुपये की लागत से जलापूर्ति योजना नीनू जेसठा, जलापूर्ति योजना नरोल धारा का सुधारीकरण कार्य, तहसील भुन्तर में 1.80 करोड़ रुपये की लागत से बजौरा उठाऊ सिंचाई योजना कलहेली के सीएडी कार्य, 89 लाख रुपये के व्यय से तहसील भुन्तर की उठाऊ सिंचाई योजना थरास के सीएडी कार्य, 7.33 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाली बंजार बाइपास सड़क, 5.82 करोड़ रुपये की लागत से ओट से लारजी तक ओट से बंजार तक परित्यक्त सड़क के रख-रखाव कार्य, नई राहे नई मंजिलें योजना के अन्तर्गत 6.65 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले पांच मंजिला केफेटेरिया भवन और 7.84 करोड़ रुपये की लागत सैंज में राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान के अतिरिक्त भवन की आधारशिला शामिल हैं।



बंजार क्षेत्र में 108 करोड़ से किया सड़कों और पुलों का निर्माण

मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने कहा कि बंजार क्षेत्र में सड़कों और पुलों के निर्माण एवं रखरखाव पर 108 करोड़ रुपये की राशि खर्च की गई है। इस निर्वाचन क्षेत्र में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अन्तर्गत 26 परियोजनाओं का क्रियान्वयन किया गया है जिस पर 100 करोड़ रुपये की राशि खर्च की जा रही है। उन्होंने कहा कि बंजार में 50 बिस्तरों की क्षमता वाले अस्पताल के निर्माण पर 16 करोड़ रुपये खर्च किए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के लोगों ने वर्तमान राज्य सरकार को अपना पूर्ण सहयोग व समर्थन दिया है। भाजपा ने न केवल चारों लोकसभा सीटों पर रिकाॅर्ड बहुमत से विजय हासिल की बल्कि उप-चुनावों में भी दोनों विधानसभा सीटों पर जीत दर्ज की। पंचायती राज संस्थाओं और शहरी स्थानीय निकायों चुनावों में भी भाजपा समर्थित उम्मीदवारों ने 75 प्रतिशत सीटों पर विजय हासिल की। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान राज्य सरकार ने देश के बाहरी राज्यों में फंसे लगभग 2.50 लाख हिमाचलियों की सुरक्षित घर वापसी सुनिश्चित की। गोवा में फंसे हजारों हिमाचलियों कोे घर पहुंचाने के लिए पांच ट्रेनों का प्रबंध किया गया था। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेताओं ने इस संकट के समय में कुछ भी नहीं किया और इस संवेदनशील मुद्दे पर भी राजनीति करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। उन्होंने कांग्रेस नेताओं को स्मरण करवाया कि जब देश में यह महामारी फैलना शुरू हुई थी उस समय में राज्य में केवल 50 वेटिंलेटर थे जबकि आज राज्य के पास 800 वेंटिलेटर उपलब्ध हैं। जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश सरकार ने राज्य के गंभीर रोगों से ग्रस्त मरीजों के परिवारों को तीन हजार रुपये प्रतिमाह की आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए सहारा योजना, लगभग 3.17 लाख घरों को निःशुल्क गैस कनैक्शन प्रदान करने के लिए गृहिणी सुविधा योजना, पात्र परिवारों को 5 लाख रुपये का सुरक्षा बीमा योजना प्रदान करने के लिए हिमकेयर योजना शुरू की है। वृद्धों, विधवाओं, निराश्रितों और दिव्यांगों को सामाजिक सुरक्षा पेंशन प्रदान की जा रही है। उन्होंने कहा कि हिमकेयर योजना के अन्तर्गत 1.70 लाख परिवारों को लाभान्वित किया गया है। उन्होंने कहा कि शगुन योजना के अन्तर्गत बीपीएल परिवारों की बेटियों को विवाह के समय 31 हजार रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जा रही है।


बंजार में हेलीपेड बनने से पर्यटन गतिविधियों को मिलेगा बढ़ावा

मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने कहा कि बंजार के हेलीपेड के कार्य में तेजी लाई जाएगी जिससे क्षेत्र में पर्यटन गतिविधियों को बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने प्राथमिक विद्यालय बिहार और सुझेरी को माध्यमिक पाठशाला और उच्च विद्यालय सरी को वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला में स्तरोन्नत करने, वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला गुसेणी में विज्ञान कक्षाएं आरम्भ करने, जामचा में आयुर्वेदिक डिस्पेंसरी, श्रीकोट में स्वास्थ्य उपकेन्द्र, देवठ में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र गड़सा को सामुदायिक स्वस्थ्य केंद्र में स्तरोन्नत करने, बंजार मंे पशु औषधालय को पशु अस्पताल बनाने, सैंज में खण्ड शिक्षा अधिकारी कार्यालय को क्रियाशील बनाने, बंजार के टैक्सी स्टेन्ड के लिए 25 लाख रुपये देने, जिला वन अधिकारी वन्य जीव कार्यालय को शमशी से लारजी स्थानांतरित करने, उप-तहसील सैंज को तहसील में स्तरोन्नत करने, बंजार बस स्टैंड -गाड़ागुशैणी-चारटी-मगरागलू-जंजैहली को प्रमुख जिला सड़क में स्तरोन्नत करने, जलशक्ति उप-मंडल को शमशी से बजौरा स्थानांतरित और जलशक्ति मंडल को शमशी से लारजी स्थानांतरित करने की घोषणाएं कीं।



प्रदेशवासियों का सौभाग्य, उदार पृष्ठभूमि से संबंध रखने वाला कर रहा राज्य का नेतृत्व: शिक्षा मंत्री

शिक्षा मंत्री श्री गोविन्द सिंह ठाकुर जी ने कहा कि यह प्रदेश की जनता का सौभाग्य है कि उदार पृष्ठभूमि से संबंध रखने वाला व्यक्ति आज प्रदेश का नेतृत्व कर रहा है। उन्होंने कहा कि बंजार क्षेत्र भी भाग्यशाली है कि इस क्षेत्र का प्रतिनिधित्व सुरेन्द्र शोरी जैसा ईमानदार और मेहनती नेता कर रहा है। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान मुख्यमंत्री ने प्रभावी तरीके से राज्य का मार्गदर्शन किया। हिमाचल प्रदेश टीकाकरण के लक्ष्य को प्राप्त करने वाले अग्रणी राज्यों में है और वैक्सीन का शून्य प्रतिशत अवयव भी सुनिश्चित किया है। उन्होंने कहा कि कुल्लू जिला में 18 वर्ष के ऊपर के आयु वर्ग की शत-प्रतिशत जनसंख्या को कोरोना वैक्सीन की पहली 2.83 लाख खुराक दी जा चुकी है। स्थानीय विधायक श्री सुरेन्द्र शौरी ने अपने गृह क्षेत्र में मुख्यमंत्री जी का स्वागत करते हुए उन्हें क्षेत्र की विभिन्न विकासात्मक मांगों का ब्यौरा दिया। उन्होंने बंजार विधानसभा क्षेत्र के लिए लगभग 84 करोड़ रुपये की विकासात्मक परियोजनाएं समर्पित करने के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। उन्होंने पिछले लगभग साढ़े तीन वर्षों में इस विधानसभा क्षेत्र के लिए समर्पित की गई विभिन्न विकासात्मक परियोजनाओं के बारे में भी बताया। उन्होंने कहा कि बंजार क्षेत्र के लिए 15 करोड़ रुपये की मल निकासी योजना क्रियान्वित की जा रही है और इस क्षेत्र को पर्यटन की दृष्टि से भी विकसित किया जा रहा है।



Top Post Ad